साम्यवाद की चुनौतियाँ - सोवियत प्रयोग (Samyavad Ko Chunotiya)

0 Reviews

Authored By : Puwar Jaishri

Publisher: Northern Book Centre

Book Price: 650.00

Offer Price: 585.00

10%
In Stock

Low cost in India and Worldwide.

साम्यवाद की चुनौतियाँ - सोवियत प्रयोग (Samyavad Ko Chunotiya)

Summary of the Book

पुस्तक के विषय में

अन्तर्राष्ट्रीय राजनीति में एक महाशक्ति के रूप में अवतरित सोवियत रूस की साम्यवादी व्यवस्था अपनी स्थापना के 74 वर्ष के भीतर ही विघटित हो गयी। यह दुनिया में साम्यवाद का प्रथम प्रयोग था जिसके सामने निरन्तर उपस्थित विभिन्न उतार-चढ़ाव एवं चुनौतियों पर हिन्दी भाषा में प्रथम बार एक विशद अध्ययन प्रस्तुत किया गया है।

माक्र्सवाद, लेनिनवाद, स्टालिनवाद, माओवाद व साम्यवादी आन्दोलन के सैद्धान्तिक एवं व्यवहारिक पक्ष की त्राुटियों पर भी विहंगम दृष्टिपात किया गया है।

साम्यवादी व्यवस्था के विघटन के क्या कारण हैं? क्या साम्यवाद को अधिनायकवाद के साथ जोड़ा जाना जरूरी है? क्या साम्यवाद का आदर्श फिर कभी दुनिया में महत्व प्राप्त करेगा? आदि प्रश्नों को गम्भीर चिन्तन के स्पर्श दिये गये हैं।

पूँजीवाद बनाम समाजवाद की चिरन्तन बहस तथा साम्यवाद के सामने वैश्वीकरण एवं नव अमेरिकनवाद की चुनौतियों के अध्ययन को शामिल करके इसे ज्ञान के क्षेत्रा में अद्यतन बनाने का प्रयास किया गया है।

प्रस्तुत पुस्तक साम्यवाद व विचारधाराओं के अध्येताओं, चिन्तकों, राजनीतिज्ञों, इतिहासकारों, शोधार्थियों व विद्यार्थियों के लिये एक संग्रहणीय दस्तावेज सिद्ध होगी।

 

 

Book Content

 


विषय-सूची



पुरोवाक्

प्राक्कथन

प्रस्तावना

प्रथम साम्यवाद का अभ्युदय एवं प्रारम्भिक चुनौतियाँ

द्वितीय वैचारिक संघर्ष के विविध आयाम

तृतीय सोवियत साम्यवादी आन्दोलन के सोपान एवं उनके समक्ष चुनौतियाँ

चतुर्थ विश्व के साम्यवादी आन्दोलन पर प्रभाव

पंचम साम्यवाद का भविष्य - कुछ प्रश्न


 


 

Author / Editors / Contributors

Authored By :

Reviews

Top reviews list the most relevant product review only. Show All instead?

There is no Review on this Book !!!