सम्यक् दर्शन (Samayak Darshan)

0 Reviews

Authored By : Gautam Lama

Publisher: Northern Book Centre

Book Price: 400.00

Offer Price: 360.00

10%
In Stock

Low cost in India and Worldwide.

सम्यक् दर्शन (Samayak Darshan)

Summary of the Book

Annotated Matter

Prior to the 6th Century the knowledge or philosophy that Buddha Lama spread continued to enlighten the people centuries thereafter. A brief comparison has also been made between the Buddhist philosophy on one hand and the Gita Philosophy, Jain Philosophy and the Philosophy of Marx on the other hand.

पुस्तक के विषय में

विश्व इतिहास में संभवतः यह पहली घटना है कि लुप्त हो जाने के कई शताब्दियों बाद कोई धर्म किसी महान् शासक के भय अथवा आदेष से नहीं वरन् स्वतः पुनः धार्मिक क्षितिज पर अपना प्रकाष-पुंज बिखेरना प्रारंभ कर देता है। छठी शताब्दी ई. पू. में तथागत बुद्ध ने ज्ञान के जिस दीप को प्रज्वलित किया था उसकी रश्मियाँ एक लम्बे अंतराल के बाद पुनः समस्त संसार को आलोकित करने लगी हैं। देश, काल एवं परिस्थिति से अबाधित बुद्ध के उदात्त मानवतावादी संदेश दिग-दिगन्त में गुंजायमान हो रहे हैं। प्रस्तुत ग्रंथ में बुद्ध का दर्शन तथा उनके समकालीन अन्य दर्शनों का संक्षिप्त विवेचन तो प्रस्तुत किया ही गया है, साथ ही साथ बौद्ध दर्शन की भागवत् दर्शन, जैन दर्शन एवं माक्र्सवाद के साथ तुलनात्मक समीक्षा भी प्रस्तुत की गई है। तथागत के श्रीचरणों में अर्पित यह लघु प्रयास दर्शन के जिज्ञासु पाठकों के समक्ष एक विनीत प्रस्तुती है।


Book Content

अनुक्रमणिका
प्राक्कथन
भूमिका
संकेत सूची
 
प्रथम अध्याय - बुद्ध का दर्शन
द्वितीय अध्याय - बुद्धकालीन अन्य दर्शन
तृतीय अध्याय - बौद्ध दर्शन के सम्प्रदाय एवं प्रमुख आचार्यगण
चतुर्थ अध्याय - बौद्धदर्शन एवं अन्य प्रमुख दर्शन
 
सहायक ग्रंथ-सूची
शब्दानुक्रमणिका

Author / Editors / Contributors

Authored By :

Reviews

Top reviews list the most relevant product review only. Show All instead?

There is no Review on this Book !!!

Recently Viewed

सम्यक् दर्शन (Sam..

400.00

360.00